Author name: Chuntughindigyan

समाज कार्य

समाज-कार्य (social work) या समाजसेवा एक शैक्षिक एवं व्यावसायिक विधा है जो सामुदायिक सगठन एवं अन्य विधियों द्वारा लोगों एवं समूहों के जीवन-स्तर को उन्नत बनाने का प्रयत्न करता है। सामाजिक कार्य का अर्थ है सकारात्मक, और सक्रिय हस्तक्षेप के माध्यम से लोगों और उनके सामाजिक माहौल के बीच अन्तःक्रिया प्रोत्साहित करके व्यक्तियों की क्षमताओं को बेहतर करना ताकि वे अपनी ज़िंदगी …

समाज कार्य Read More »

समाज में सुधार हेतु मार्गदर्शन या सलाह

समाज में सुधार हेतु मार्गदर्शन या सलाह : समाज एक संघर्षशील संगठन है जिसमें विभिन्न व्यक्तियों, समूहों और संगठनों का मिश्रण होता है। इसमें विभिन्न धार्मिक, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक तत्वों का सम्मिश्रण होता है जो समाज की वैश्विक प्रगति और समृद्धि का आधार बनाते हैं। हालांकि, समाज एक विकासशील अवस्था में होते हुए भी …

समाज में सुधार हेतु मार्गदर्शन या सलाह Read More »

ग्लायोब्लास्टोमा: मस्तिष्क कैंसर का घातक रोग और उसका इलाज

ग्लायोब्लास्टोमा: मस्तिष्क कैंसर का घातक रोग Cancer-killing virus plus immunotherapy boosts survival in aggressive brain cancer ग्लायोब्लास्टोमा: मस्तिष्क कैंसर का घातक रोग क्या आप जानते हैं ग्लायोब्लास्टोमा के बारे में? यह मस्तिष्क कैंसर का एक घातक रूप है जो मस्तिष्क की सेलों को प्रभावित करता है। यह एक अत्यधिक गंभीर रोग है, जिसका पता चलना …

ग्लायोब्लास्टोमा: मस्तिष्क कैंसर का घातक रोग और उसका इलाज Read More »

मेलेनोमा त्वचा कैंसर (Melanoma Skin Cancer)

मेलेनोमा त्वचा कैंसर (Melanoma Skin Cancer) स्किन कैंसर (मेलेनोमा) स्किन कैंसर एक घातक और चिकित्सीय मामला है जिसमें त्वचा के कोशिकाओं में असामान्य और अनियमित वृद्धि होती है। इसमें सबसे आम स्थान त्वचा का मेलेनोसाइट नामक कोशिकाओं की अनियमित वृद्धि होती है। यह कैंसर व्यक्ति की त्वचा, बाल, नाखूनों, नसों और मस्तिष्क को भी प्रभावित …

मेलेनोमा त्वचा कैंसर (Melanoma Skin Cancer) Read More »

भारतीय परिवार में लड़कों की बढ़ती संख्या पर विचार

भारतीय परिवार में लड़कों की बढ़ती संख्या पर विचार आधुनिक युग में, भारतीय परिवार में लड़कों की संख्या का बढ़ना एक महत्वपूर्ण विषय बन गया है। इस विषय पर विचार करते समय, हमें ध्यान में रखना चाहिए कि समाज की परिवर्तनशीलता के कारण यह संख्या बदल रही है और हमें इसे सकारात्मक रूप से देखना …

भारतीय परिवार में लड़कों की बढ़ती संख्या पर विचार Read More »

Scroll to Top